Mouse क्या है, Mouse की A to Z जानकारी हिंदी में iNewKhushi - हिंदी में जानकारी
mouse ki a to z jaankari hindi me

Mouse क्या है, Mouse की A to Z जानकारी हिंदी में

Mouse क्या है और Mouse कितने प्रकार के होते है?

Mouse: हम चारों और से Technology से घिरे हुए हैं हम रोजमर्रा के काम में इस्तमाल कर रहे सभी काम किसी न किसी रूप में technology से सम्बंधित ही है ये technology हमारे कार्य को आसान ही नहीं बल्कि जल्दी भी कर देती है जिससे हमारे काफी समय की बचत होती है

हम बाहरी दुनिया में चीजों को उठाने, पकड़ने, ले जाने, सरकाने आदि कार्यों के लिए हाथ का इस्तेमाल करते है लेकिन, यही कार्य आपको Computer पर करना हो तो आप कैसे करेंगे? क्योंकि कम्प्युटर के पास तो हाथ होते नही फिर कैसे यह कार्य होगा?

क्या आपको पता है की computer को operate करने के लिए सबसे जरुरत वाली चीज़ क्या है? अगर आपने Mouse के बारे में सोचा है तब आपने सही अनुमान लगा है क्यूंकि Computer Screen में हो रहे सभी गतिविधियों को Mouse के द्वारा ही operat किया जाता है

क्या आप जानते है Computer mouse का नाम कैसे पड़ा अगर आप एक चूहे को देखे तो उसका size, shape और tail बिल्कुल mouse से मिलती है इसलिये इस pointing device को माउस कहा जाने लगा
आइए जानते है कि आखिरकार क्या माउस है क्या और इसके प्रकार कितने हैं

माउस क्या है?

Mouse computer में उपयोग होने वाली सबसे प्रमुख Input Device है Mouse एक कंप्यूटर हार्डवेयर है, ये display screen पर cursor की movement को operate करता है

आज computer में व्यापक रूप से इस्तेमाल होने वाली डिवाइस है हम इसे Trackball Mouse के नाम से जानते है इसे कंप्यूटर के साथ केबल या वायरलेस तरीके से जोड़ा जाता है

आमतौर पर Mouse में two Button (left & Right) और एक scroll wheel होती है इन बटनों के उपयोग से आप स्क्रीन पर टेक्स्ट को सलेक्ट या मूव करा सकते है वही स्क्रोल व्हील के द्वारा किसी पेज पर उप्पर-नीचे जा सकते है

Full Form of Mouse: माउस का फुल फॉर्म क्या है?

 

full forms of mouse

माउस का फुल फॉर्म है: Manually Operated Utility For Selecting Equipment.

माउस का पूरा नाम हिंदी में कुछ इस तरह होगा, “उपकरण के चयन के लिए मैन्युअल रूप से संचालित उपयोगिता“

अभी तक हमने क्या सिखा?

अभी तक हमने जाना है कि माउस क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या है , अब हम जाने वाले है कि माउस का इतिहास क्या है

इसे सबसे पहले किस कंप्यूटर में यूज किया गया आखिर आपके दिमाग में इस प्रकार के बहुत सारे question आ रहे होंगे इस प्रकार के सभी प्रश्नों का उत्तर देने के लिए हम अपनी पोस्ट को जारी रखते हैं और

इसका इस्तेमाल करना सीखते हैं, ओर जानना चाहते है की माउस के प्रकार कितनी है और इसे किस नाम से जाना जाता है, ओर माउस के कितने प्रकार है,चलिए हम स्टार्ट करते हैं

माउस का इतिहास क्या है?

Mouse” का अविष्कार सन 1964 में Douglas Engelbart ने किया था पहली बार Mouse को Xerox Alto computer के साथ उपयोग किया गया इससे पहले तक Mouse नही था बल्कि Keyboard पर command type करके data input किया जाता था

सन 1972 में Ball Mouse ने इसका स्थान लिया,इसे Bill English द्वारा बनाया गया था कुछ सालों बाद Steven Kirsch ने Mouse को एक नई तकनीक के साथ पेश किया जिसे Optical Mouse नाम दिया

माउस को हम किस नाम से जानते हैं?

आमतौर पर हम माउस को माउस के नाम से जानते है , क्या आप जानना चाहते हैं कि माउस को किस किस नाम से जाना जाता है

माउस को हम trackpad और touchpad और glide pad और glide pointer के नाम से जाना जाता है

माउस का इस्तेमाल करना सीखते हैं?

क्या आप जानना चाहते है कि हम माउस का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं और इसके कार्य क्या है अब ये सारी बातों पर गौर करें चलिए शुरुआत करते हैं

माउस के कार्य

1. एक Computer mouse यूजर को cursor एक जगह से दूसरी जगह move करने की अनुमति देता है
2. ये हमे कंप्यूटर स्क्रीन पर text को select करने, files को drag करने, और items पर click करने में मदद करता है
3. Mouse में मौजूद wheel की मदद से हम किसी page को Up and Down scroll कर सकते है
4. उपयोगकर्ता किसी भी Files या Application पर Double click करके उसे open कर सकते है

 

माउस का प्रयोग कैसे करें

Left और right button: लगभग सभी आधुनिक mice में ये बटन होते है Left button को press करके हम object को select कर सकते है और इसे double-click करके किसी program को execute किया जाता है वही Right button को दबाने पर contextual menus का pop-up खुलता है

Scroll wheel: ये दो बटनों के बीच मौजूद होती है, जो हमे एक page पर scroll करने में मदद करती है

Ball, Laser और LED: यदि माउस एक mechanical mouse हो, तो उसमे computer screen पर pointer को X-Y direction में move करने के लिए Ball का उपयोग होता है इसके विपरीत optical mouse में laser या LED light लगी होती है

Circuit board: जो इनपुट हम दे रहे है, उसे signal में बदलकर computer तक transmit करने के लिए mice के भीतर एक board मौजूद होता है

Cable: Computer से mouse को connect करने के लिए इस केबल का यूज होता है ये केबल USB या PS/2 port के साथ आती है

अधिकतर सामान्य Mouse में यही पार्ट्स मौजूद होते है हालांकि गेमिंग या किसी विशिष्ट प्रकार के माउस में इससे अधिक फंक्शन भी दिए जाते है आइये अब Mouse में इस्तेमाल होने वाले विभिन्न connection types के बारे में जानते है

Mouse/माउस के विभिन्न प्रकार

types of mouse hindi me

अब हम जानने वाले हैं कि माउस के कितने प्रकार होते हैं, और उनका यूज़ कैसे किया जाता है, ये सारी बातें अभी हम जाने वाले हैं

अब हम बात करने वाले है , समय के साथ साथ Mouse के कई अलग अलग interfaces भी develop हुए जैसे जैसे technology advanced हुई चलिए हम अपनी पोस्ट जारी रखते हैं

BALLPOINT MOUSE

इस माउस का आविष्कार सन 1972 में Bill English ने किया था Mechanical Mouse निर्देशों के लिए एक बॉल का इस्तेमाल करता था इसलिए इसे Ball Mouse भी कहा जाता हैं

इस बॉल को दाएं-बाएं और ऊपर-नीचे घुमाया जा सकता था इनका उपयोग उस समय IBM personal computer में किया गया था इन्हें PC से जोड़ने के लिये विशेष bus interface का यूज किया जाता था

जिसे ISA add in card के माध्यम से implement किया गया था

OPTICAL MOUSE

Optical Mouse में LED – Light Emitting Diode तथा DSP – Digital Signal Processing तकनीक पर कार्य करता है इस माउस में कोई भी बॉल नही होती हैं इसकी जगह पर एक छोटा-सा बल्ब लगा होता है

इसलिए माउस को हिलाने पर पॉइंटर हलचल करता है तथा इसमे मौजूद बटन के द्वारा हम कम्प्युटर को निर्देश देते है आजकल इसी प्रकार के माउस का इस्तेमाल होता है

इनका डिजाइन बाकी प्रकार के mouse की तरह ही होता है लेकिन इन्हें computer से connect करने के लिए USB port का उपयोग किया जाता है

 

WIRELESS MOUSE

ये mouse कंप्यूटर से जुड़ने के लिए किसी भी तरह की cable या wire का उपयोग नही करते है बल्कि ये wireless technology जैसे – Bluetooth, RF, और infrared radio waves के माध्यम से कंप्यूटर में जोड़े जाते है

इन mouse के साथ एक USB receiver आता है, जिसे आप अपने कंप्यूटर में लगाने के बाद इसे bluetooth से connect कर यूज कर सकते है इस प्रकार के माउस को Cordless mouse भी कहते है

STYLUS MOUSE

 

इस प्रकार के माउस को gStick Mouse भी कहा जाता है क्योंकि Stylus Mouse का आविष्कार Gordan Stewart ने किया था इसलिए gStick में ‘g’ का मतलब Gordan होता है

यह माउस एक पेन की तरह दिखाई देता है जिसमे एक पहिया (Wheel) भी होता है इस पहिया को ऊपर-नीचे सरकाया जा सकता है इसका उपयोग अधिकतर Touchscreen Devices के लिए किया जाता है

माउस का भविष्य

जैसे जैसे Technology में advancement हो रही है, ऐसे में Mouse भी इस line में शामिल है जहाँ पहले हम ball mouse का इस्तमाल करते थे वहीँ अभी Wireless Mouse का इस्तमाल किया जाता है

धीरे धीरे शायद और माउस का इस्तमाल बंद भी हो जाये क्यूंकि AI (Artificial Intelligence) के बढ़ जाने से अब तो voice commands की ज्यादा demand बढ़ गयी है

लोगों को और भी सुविधा की जरुरत है वो कोई काम करने के लिए अपने हाथों का इस्तमाल नहीं करना चाहते हैं ऐसे में वो दिन दूर नहीं जब Mouse बस एक पुरातन device के हिसाब से रह जायेगा

लेकिन ऐसा होने में अभी समय है देखते हैं भविष्य हमारे लिए क्या नयी नयी चीज़ें लेकर आने वाला है

Conclusion

मुझे विश्वास है कि आप को माउस क्या है, माउस का फुल फॉर्म क्या है, माउस का इतिहास किया है, माउस इस्तेमाल कैसे किया जाता है, माउस का प्रयोग किस प्रकार किया जाता है और माउस के विभिन्न प्रकार क्या-क्या है और भविष्य में हमारा माउस कैसा होगा,ये सारी बातें आपको समझ में आ गई होगी

mouse ki hindi me jaankari, history of mouse

मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करता हूं कि हमारे रीडर को पूरी जानकारी मिले अगर कोई समझ में नहीं आता है तो आप हमें कमेंट कर सकते है और जिससे हमें अपनी गलती सुधारने का मौका मिलता है आपने हमें इतना प्यार दिया उसके लिए धन्यवाद!

हां आपको पोस्ट कैसा लगा हमें जरुर बताना |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *